Na Jannat Maine Dekhi hai Na Jannat ki Tawaqqo Hai

ना जन्नत मैंने देखी है ना जन्नत की तवक्क़ो है मगर मैं ख़्वाब में इस मुल्क का नक़शा बनाता हूँ मुझे अपनी वफ़ादारी पे कोई शक नहीं होता मैं खून-ए-दिल मिला देता हूँ जब झंडा बनाता हूँ نہ جنّت میں نے دیکھی ہے نہ جنّت کی توقع ہے مگر میں خواب میں اس ملک کا […]

Continue reading

Main issey pehle ke bikhru’n idhar-udhar ho jaau’n

मैं इससे पहले कि बिखरूं इधर-उधर हो जाऊं मुझे संभाल ले मुमकिन है दर-बदर हो जाऊं میں اس سے پہلے کہ بکھروں ادھر ادھر ہو جاؤں مجھے سنبھال لے ممکن ہے در بدر ہو جاؤں Main issey pehle ke bikhru’n idhar-udhar ho jaau’n Mujhe sambhaal le Mumkin hai dar-badar ho jaau’n Shayari by @Munawwar Rana

Continue reading

कई सदियों की बहस, हुज्जत और तकरार के बाद

मनसूख मुआहिदा कई सदियों की बहस, हुज्जत और तकरार के बाद आँधी और चिराग़ में यह मुआहिदा हो ही गया दोनों एक दूसरे का ख़याल रखेंगे जितनी देर तक यह दिया जलेगा हवा होंठों पर ऊँगली रखे रहेगी और जब हवा फूल पत्तियों से छेड़खानी करने के लिए निकलेगी तब दिया जलेगा नहीं दोनों इस […]

Continue reading

Uska LikKha huwa har Shakhs nahi’n padh sakta

उसका लिक्खा हुआ हर शख्स नहीं पढ़ सकता वो मिला लेता है काजल में हमेशा आँसू اس کا لکھا ہوا ہرشخص نہیں پڑھ سکتا وہ ملا لیتا ہے کاجل میں ہمیشہ آنسو Uska LikKha huwa har Shakhs nahi’n padh sakta Wo mila leta hai kaajal me’n hamesha Aansu

Continue reading

Teri Muhabbat ki Hifazat

तेरी मुहब्बत की हिफाज़त कुछ इस तरह की हमने, जब देखा किसी ने प्यार से नज़रें झुका ली हमने ..! Teri Muhabbat ki Hifazat Kuch is tarah ki humne jab dekha kisi ne pyar se Najre jhuka li humne .. تیری محبّت کی حفاظت کچھ اس طرح کی ہمنے جب دیکھا کسی نے پیار سے […]

Continue reading

Paana hai jo Mukam wo mukam

पाना है जो मुकाम वो मुकाम अभी बाकी है , अभी तो आएं हैं जमीन पर , अभी आसमान की उड़ान बाकी है , अभी तो सिर्फ सुना है लोगों ने मेरा नाम , अब इस नाम की पहचान बनाना बाकी है .. Paana hai jo Mukam wo mukam abhi baaki hai Abhi to aayen […]

Continue reading

क्या ऎसा नहीं हो सकता के हम तुम से तुमको माँगे ?

क्या ऎसा नहीं हो सकता के हम तुम से तुमको माँगे ? और तुम मुस्कुरा के कहो के अपनी चीजें माँगा नहीं करते.. Kya Aisa nahi ho sakta ke Hum Tumse  Tumko Mange ? Or tum Muskura ke Kho ke Apni cheeje manga nahi krte.. کیا ایسا نہیں ہو سکتا کے ہم تمسے تمکو مانگے […]

Continue reading

सारी गलतियाँ मेरी, सारे कसूर मेरे

सारी गलतियाँ मेरी, सारे कसूर मेरे सारी कमियां मुझमें, सारे दोष भी मेरे तुम तो अच्छे हो न, याद ही कर लिया करो! Saari Galtiya Meri, Saare kasur mere Saari Kamiya Mujhme, Saare Dosh bhi mere Tum To Achche ho na, Yaad hi kar liya Kro.. ساری گلٹیا میری ، سارے کسور میرے ساری کمیا […]

Continue reading